Download HinduNidhi App
Misc

जानकी माता आरती

Janaki Mata Aarti Hindi

MiscAarti (आरती संग्रह)हिन्दी
Share This

॥ आरती ॥

आरती कीजै श्रीजनक लली की।
राममधुपमन कमल कली की॥

आरती कीजै श्रीजनक लली की…॥

रामचन्द्र, मुखचन्द्र चकोरी।
अन्तर साँवर बाहर गोरी।
सकल सुमन्गल सुफल फली की॥

आरती कीजै श्रीजनक लली की…॥

पिय दृगमृग जुग-वन्धन डोरी,
पीय प्रेम रस-राशि किशोरी।
पिय मन गति विश्राम थली की॥

आरती कीजै श्रीजनक लली की…॥

रूप-रास गुननिधि जग स्वामिनि,
प्रेम प्रवीन राम अभिरामिनि।
सरबस धन हरिचन्द अली की॥

आरती कीजै श्रीजनक लली की…॥

Found a Mistake or Error? Report it Now

Download HinduNidhi App

Download जानकी माता आरती PDF

जानकी माता आरती PDF

Leave a Comment