तू टेढ़ा तेरी टेढ़ी रे नजरिया – भजन

तू टेढ़ा तेरी टेढ़ी रे नजरिया

तू टेढ़ा तेरी टेढ़ी रे नजरिया,
मै सीधी मेरी सीधी रे डगरिया,
तू टेढ़ा तेरी टेढ़ी रे नजरिया।।

मथुरा तेरो टेढ़ो,
वृन्दावन तेरो टेढ़ो,
टेढ़ी रे तेरी गोकुल नगरिया।।

राधा तेरी टेढ़ी,
बलदाऊ तेरे टेढ़े,
टेढ़ी रे तेरी यशोदा डुकरिया।।

मुकुट तेरो टेढो,
लकुट तेरी टेढ़ी,
टेढ़ी रे श्याम तेरे मुख की मुरलिया।।

ओ टेढ़े तेरी,
मुरली की धुन पे,
नाच नाच भई टेढ़ी रे कमरिया।।

गोपी सब टेढ़ी,
ग्वाल सब टेढ़े,
टेढ़ी रे तेरे प्रेम की डगरिया।।

भक्त सब टेढ़े,
भक्तानी सब टेढ़ी,
सीधी रे श्याम राधा गुजरिया।।

रूप के रसिया ते,
रूप छिपाओ,
माखन मांगू तो आँखे दिखाओ,
टेढ़ो नवनितो का करूँ जे बताओ,
घी निकरे ना बिन टेढ़ी उँगरिया,
सीधे को नाए गुजारो री गुजरिया।।

तू टेढ़ा तेरी टेढ़ी रे नजरिया,
मै सीधी मेरी सीधी रे डगरिया,
तू टेढ़ा तेरी टेढ़ी रे नजरिया।।

Leave a Comment